A+ स्वतंत्रता दिवस पर निबंध | 100, 150, 250, 300, 500 शब्दों में | 10 पंक्तियाँ

इस पेज पर क्या है

इंडेक्सरीडिंग टाइम
1️⃣ कक्षा 1, 2, 3, 4, 5 के लिए निबंध1.6 Minutes
2️⃣ कक्षा 6, 7, 8 के लिए स्वतंत्रता दिवस पर निबंध3.3 Minutes
3️⃣ कक्षा 9, 10, 11, 12 लंबी निबंध रचना5.7 Minutes

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध | 100, 150 शब्दों में | 10 पंक्तियाँ

स्वतंत्रता दिवस एक महान भारतीय उत्सव है।
हम इसे हर साल 15 अगस्त को मनाते हैं।
हमारे देश को 15 अगस्त 1947 को आजादी मिली।
हम इस दिन अपने देश के प्रति सम्मान दिखाते हैं।
हम अपने स्वतंत्रता सेनानियों को याद करते हैं।
हम स्वतंत्रता दिवस पर अपनी स्वतंत्रता का जश्न मनाते हैं।
हम अपने शहर में मार्च करते हैं और नारे लगाते हैं।

हमारा विद्यालय कई कार्यों का आयोजन करता है।
हम गायन, नृत्य, नाटक, कविता और भाषण में भाग लेते हैं।
हमें उनमें हिस्सा लेने के लिए पुरस्कार मिलता है।
हम स्वतंत्रता दिवस पर स्कूल में कई काम करते हैं।
हम अपना राष्ट्रीय ध्वज उठाते हैं और उसे सलाम करते हैं।
हम अपना सम्मान दिखाने के लिए राष्ट्रगान गाते हैं।

हम अपने गालों पर टैटू चिपकाते हैं और तिरंगे की कलाई के बैंड पहनते हैं।
हम स्वतंत्रता दिवस को त्योहार की तरह मनाते हैं।
इसे हम राष्ट्रीय पर्व कह सकते हैं।
कुछ विशेष व्यक्ति हमारे झंडे को फहराने के लिए हमारे स्कूल आते हैं।

ये भी पढ़ें - महात्मा गांधी पर निबंध 

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध | 200, 250, 300 शब्दों में | कक्षा 6, 7, 8 के लिए

स्वतंत्रता दिवस पर हिन्दी निबंध

परिचय

भारत हर साल 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाता है क्योंकि हमारे देश ने वर्ष 1947 में इसी दिन स्वतंत्रता हासिल की थी। हम इस दिन अपनी आजादी का जश्न मनाते हैं और अपने “भारत” देश के प्रति अपना सम्मान प्रदर्शित करते हैं। साथ ही, हम अपने महान स्वतंत्रता सेनानियों के संघर्षों और बलिदानों की सराहना करते हैं। भारत में सभी धर्मों के लोग इसे बहुत खुशी से मनाते हैं और यह हमारे देश के लिए यह एकता का प्रतीक है।

भारत में सभी लोग अपने घरों को तिरंगा लगाकरसजाते हैं। न केवल घर बल्कि सरकारी इमारतें भी भारतीय झंडे की एक थीम के में सजाने के बाद खूबसूरत लगती हैं। स्कूल विभिन्न प्रकार के समारोह आयोजित करते हैं और छात्रों के बीच मिठाई वितरित करते हैं। हम स्वतंत्रता दिवस पर अपना राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं और उसे सैलूट करते हैं और राष्ट्रगान भी गाते हैं।

स्वतन्त्रता सेनानियों का संघर्ष

आज हम अपने स्वतंत्रता सेनानियों के संघर्ष और योगदान के कारण स्वतंत्र हैं जिन्होंने हमारे देश की आजादी के लिए लड़ाई लड़ी। महात्मा गांधी उन लोगों में से एक हैं जिन्होंने देश को एक पिता के रूप में कार्य किया और इसलिए उन्हें राष्ट्र का पिता कहा जाता है। कई बार हमारे स्वतंत्रता सेनानियों को मारा पीटा गया और उन्हें सलाखों के पीछे भेजा गया, लेकिन उन्होंने अपना आत्मविश्वास नहीं खोया।

गांधीजी के अलावा, चंद्रशेखर आज़ाद, भगत सिंह, सरदार वल्लभ भाई पटेल, डॉ। राजेंद्र प्रसाद, लाल बहादुर शास्त्री, बाल गंगाधर तिलक, गोपाल कृष्ण गोखले, और कई लोगों को ब्रिटिशों के शोषण का सामना करना पड़ा। बहुत संघर्ष और कठिनाइयों के बाद, हमें ब्रिटिश शासन से स्वतंत्रता मिली।

Must Read - प्रदुषण पर निबंध 

उपसंहार

अंत में, हम बहुत उत्साह के साथ स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं। हम कह सकते हैं कि स्वतंत्रता प्राप्त करना गुलाबों की सेज नहीं था। हमारे स्वतंत्रता सेनानियों ने स्वतंत्रता हासिल करने के लिए बहुत संघर्ष किया। हमें हमेशा उनका सम्मान करना चाहिए और उनके योगदानों को याद रखना चाहिए। यह एक महान भारतीय त्योहार है। हमें एक साथ रहना चाहिए और हर देशवासी से प्यार करना चाहिए क्योंकि एकता हमारे देश की पहचान है।


स्वतंत्रता दिवस पर निबंध | 500 से 600 शब्दों में | कक्षा 9, 10, 11, 12 के लिए

स्वतंत्रता दिवस पर हिन्दी निबंध

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध के मुख्य बिंदु

  1. परिचय
  2. भारत की आजादी की लड़ाई और संघर्ष
  3. स्वतंत्रता दिवस पर देश का वातावरण
  4. स्वतंत्रता दिवस का उत्सव
  5. महत्व और महत्व
  6. अंतिम शब्द

परिचय

स्वतंत्रता दिवस पर हिन्दी निबंध: दुनिया में सबसे अधिक आबादी वाले लोकतंत्रों में से एक, “भारत” 15 अगस्त को अपना स्वतंत्रता दिवस मनाता है, जिस दिन हमारा देश एक स्वतंत्र राष्ट्र बन गया था। यह दिन उस ऐतिहासिक घटना को दर्शाता है जब हमारे राष्ट्र ने अंततः वर्चस्व की बेड़ियों को तोड़ दिया था और वर्ष 1947 में ब्रिटिश साम्राज्य से स्वतंत्रता प्राप्त की थी। यह इंगित करता है कि हम अब खुद पर शासन करने के लिए स्वतंत्र हैं और अब किसी और द्वारा शासित नहीं हैं।

यह दिन हमारे स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदानों की याद दिलाता है जो भारत को ब्रिटिश शासन से स्वतंत्र करने के लिए किए गए थे। स्वतंत्रता दिवस एक राष्ट्रीय अवकाश है और इस दिन को ध्वजारोहण, परेड और सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ मनाया जाता है।

भारत की आजादी की लड़ाई और संघर्ष

हमारा राष्ट्र कई वर्षों तक अंग्रेजों द्वारा नियंत्रित रहा। ईस्ट इंडिया कंपनी ने लगभग 100 वर्षों तक भारत पर शासन किया। ब्रिटिश शासन के दौरान भारतीयों के साथ हमेशा बुरा व्यवहार किया जाता था। हमारे राष्ट्र ने 1857 में पहली बार विदेशी शासन के खिलाफ अपना विद्रोह किया था। पूरे देश ने संयुक्त रूप से स्वतंत्रता हासिल करने के लिए ब्रिटिश सत्ता के खिलाफ अपना पहला अभियान चलाया।

कई स्वतंत्रता सेनानियों ने अवर्णनीय पीड़ा से गुज़रते हुए भारत की स्वतंत्रता के लिए अपनी जान गंवा दी। ब्रिटेन तब दो विश्व युद्धों के बाद कमजोर पड़ने लगा था और भारत स्थायी रूप से स्वतंत्र हो गया। भारत की स्वतंत्रता की लड़ाई हमेशा एक प्रेरणा रही है क्योंकि यह दुनिया की सबसे अहिंसक लड़ाई थी।

जरूर पढ़ें- कोरोना वायरस पर निबंध 

स्वतंत्रता दिवस पर देश का वातावरण

भारत के लोग अपने घरों को राष्ट्रीय झंडों से सुसज्जित करते हैं। न केवल घर बल्कि सरकारी इमारतें भी हमारे राष्ट्रीय ध्वज की थीम में सजाई जाती हैं। स्कूल विभिन्न प्रकार के समारोह आयोजित करते हैं और छात्रों के बीच मिठाई वितरित करते हैं। हम इस दिन अपना राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं, हम राष्ट्रगान गाते हैं, और इसे सैल्यूट भी करते हैं।

स्कूल, कॉलेज, सोसाइटी और कार्यालय विभिन्न छोटे और बड़े आयोजन करते हैं। स्कूल और कॉलेज सांस्कृतिक कार्यक्रमों, नृत्य प्रतियोगिताओं, वाद-विवाद, भाषण और प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिताओं का आयोजन करते हैं।

स्वतंत्रता दिवस का उत्सव

इस दिन, राष्ट्रगान गाया जाता है, और देश के हर कोने में झंडारोहण, समारोह, और रीति-रिवाज किए जाते हैं। भारतीय अपने राष्ट्र और संस्कृति का सम्मान करने के लिए एक विशेष तरीके की पोशाक पहनते हैं। पतंगबाजी एक और प्रथा है जो स्वतंत्रता दिवस पर मनाई जाती है जिसमें सभी आयु वर्ग के लोग भाग लेते हैं। यह उस स्वतंत्रता को व्यक्त करता है जो हमने इस दिन प्राप्त की थी।

हमारे प्रधानमंत्री लाल किले पर अपना झंडा फहराते हैं। सेना और पुलिस के सदस्यों के साथ एक परेड में भी भाग लेते हैं। राष्ट्र को एक भाषण पीएम द्वारा संबोधित किया जाता है जहां वह इन सभी वर्षों में देश की उपलब्धियों पर जोर देते हैं। वह भावी लक्ष्यों के बारे में भी बताते हैं।

महत्व और महत्व

यह युवाओं के बीच देशभक्ति को जगाने और एकता की भावना जगाने का एक बहुत ही सार्थक दिन है क्योंकि किसी भी देश का भविष्य उसकी आने वाली पीढ़ी पर निर्भर करता है। स्वतंत्रता दिवस हमें अपने महान स्वतंत्रता सेनानियों के संघर्षों और बलिदानों का स्मरण कराता है। यह इसलिए भी मनाया जाता है ताकि हमारे लोग भारत के इतिहास को समझने के लिए प्रेरित हो सकें।

हमारे किशोरों और भारत के सभी निवासियों के बीच देश के लिए सेवा की भावना जागृत करने के लिए, स्वतंत्रता दिवस एक आवश्यक दिन है।

पॉपुलर रीड- होली पर निबंध

अंतिम शब्द (उपसंहार)

संक्षेप में, यह एक ऐसा दिन है जब हम दुनिया को बताते हैं कि हमें अंग्रेजों की गुलामी से कैसे आजादी मिली। यह हमारी नई पीढ़ी को हमारे स्वतंत्रता सेनानियों के संघर्षों से अवगत कराने के लिए मनाया जाता है। यह दिन इस बात की याद दिलाता है कि कैसे आजादी ने भारत को बदल दिया है। जब भारत के लोग भारत के इतिहास को याद करते हैं, तो देश की सेवा करने के लिए उनके दिल में एक प्रेरणा जागृत होती है।

{Some facts about Indian achievements.}


सम्बंधित प्रश्न स्वतंत्रता दिवस पर निबंध

  1. स्वतंत्रता दिवस क्या है?

    स्वतंत्रता दिवस एक ऐसा दिन है जिस दिन किसी देश को किसी अन्य देश के शासन से स्वतंत्रता मिली।

  2. भारत में स्वतंत्रता दिवस कब मनाया जाता है?

    भारत में, स्वतंत्रता दिवस हर साल 15 अगस्त को मनाया जाता है।

  3. स्वतंत्रता दिवस पर निबंध कैसे लिखें ?

    स्वतंत्रता दिवस पर निबंध लिखने के लिए चरण :
    स्वतन्त्रता सेनानियों तथा उनके संघर्षों, उनकी उपलब्धियों और उनके जीवन के एक संक्षिप्त इतिहास को जानने की आवश्यकता है। उसके बाद आप आसानी से लिख सकते हैं।


Leave a Comment